BIHARBreaking NewsMUZAFFARPURSTATE

दुर्गा पूजा के पहले सभी सड़कों के गड्ढे भरने और सर्वे करा ड्रेनेज बनाने का प्रस्ताव नगर निगम बाेर्ड में पास

बैठक पर बैठक के बावजूद कोई काम नहीं हाेने व जलजमाव की भीषण समस्या को लेकर बुधवार को नगर निगम बोर्ड की बैठक में वार्ड पार्षदों ने जमकर हंगामा किया। कार्यपालक अभियंता के रवैए पर तीखी बहस चली। बाद में नगर विकास एवं आवास मंत्री सुरेश शर्मा की पहल पर नगर निगम बोर्ड ने ड्रेनेज सिस्टम ऑफ मुजफ्फरपुर का प्रस्ताव पारित किया। इसके तहत जलजमाव से मुक्ति को लेकर पूरे शहरी इलाके में सर्वे करा ड्रेनेज बनाए जाएंगे। बैठक में दुर्गा पूजा के पहले शहर की सड़काें के सभी गड्ढे भरे जाने समेत 15 प्रस्ताव पास किए गए।

नगर विकास मंत्री ने कहा कि मुजफ्फरपुर की सबसे बड़ी समस्या जलजमाव है। नालाें की गलत बनावट के कारण पानी नहीं निकल पाता है। मुशहरी में एसटीपी की स्वीकृति वहां के लोगों ने दे दी है। 183 करोड़ की योजना से एसटीपी व ड्रेनेज बन रहे हैं। लेकिन, यह इस शहर के लिए पर्याप्त नहीं होगा। यहां बड़ा ड्रेनेज बना कर सभी मोहल्ले के नालाें को उससे जोड़ना होगा। इसके लिए जितने रुपए की जरूरत होगी, सरकार देगी।नगर निगम बोर्ड इसे स्वीकृत कर भेजे।

आचार संहिता लगने के पहले यह योजना स्वीकृत हाे जाए, इसका पूरा प्रयास करूंगा। उन्हाेंने कहा कि पानी की ठीक से निकासी के लिए नालाें से अतिक्रमण भी सख्ती से हटाया जाए। मेयर सुरेश कुमार की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में एमएलसी दिनेश प्रसाद सिंह, डिप्टी मेयर मानमर्दन शुक्ला, नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय, अपर नगर आयुक्त विशाल आनंद, कार्यपालक अभियंता अशोक सिन्हा समेत सभी पार्षद मौजूद थे।

रिमोट कंट्रोल से नगर निगम को चलाने और नगर विकास मंत्री की प्रशंसा पर हंगामा : वार्ड पार्षद जावेद अख्तर गुड्डू ने बैठक में नगर विकास मंत्री की प्रशंसा की। साथ ही कहा कि पहले के जो मेयर होते थे, वे रिमोट कंट्रोल से कहीं से संचालित होते थे। इस पर पार्षद राजीव कुमार पंकू भड़क उठे। राकेश सिन्हा पप्पू ने भी रिमोट कंट्रोल की बात पर जमकर हंगामा किया। मंच तक पहुंच कर दोनों पार्षदों समेत कई अन्य ने हंगामा करते हुए एजेंडा के बाहर बात करने पर कड़ी आपत्ति जताई।

ठेला-खाेमचा वाले को राेजगार के लिए मिलेंगे 10-10 हजार

बैठक में नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा ने कहा कि काेराेना संकट काे लेकर भारत सरकार की याेजना के तहत ठेला-टेंपो वाले को राेजगार के लिए 10-10 हजार रुपए का ऋण दिया जाएगा। मेयर सुरेश कुमार ने बताया कि निगम क्षेत्र के सभी वार्ड पार्षद अपने-अपने वार्ड के वेंडराें काे चिह्नित करेंगे। उनके द्वारा ही वेंडराें का सत्यापन किया जाएगा। राशि का भुगतान वेंडराें के बैंक खाते में हाेगा। इसके लिए वेंडर काे अपना आधार कार्ड व बैंक पासबुक की काॅपी जमा करनी है।

बैठक में इन प्रमुख एजेंडों को सदस्यों ने दी स्वीकृति

  • सरकार को शीघ्र भेजा जाएगा ड्रेनेज सिस्टम ऑफ़ मुजफ्फरपुर का प्रस्ताव
  • दुर्गा पूजा के पहले पथ निर्माण विभाग गड्ढाें काे नहीं भरेगा ताे जाएगा नोटिस
  • 10 बॉबकट मशीन की हाेगी खरीदारी
  • जाड़ा के पहले रैन बसेराें का जीर्णोद्धार
  • सामाजिक सुरक्षा योजना काे एकल विंडो
  • राशन कार्ड की त्रुटियां दूर कराई जाएंगी
  • बिना इजाजत बिछे मोबाइल केबल हटेंगे
  • दशहरा से पहले दुरुस्त हाेंगे शौचालय।

डिप्टी मेयर बाेले- दुकानदाराें काे वेंडिंग जाेन बना उसमें दी जाए जगह

डिप्टी मेयर मानमर्दन शुक्ला ने कहा कि उद्घाटन के समय कंपनी द्वारा बताया गया कि शाम होते ही एलईडी लाइट जल जाएगी और सूर्योदय के साथ बंद हो जाएगी। लेकिन, शहर में दिन में भी एलईडी लाइट जलती रहती है। निगम के पास जमीन पड़ी हुई है, उसमें वेंडिंग जोन बनाकर दुकानदारों को जगह दी जाए।

सदस्यों ने कहा- नगर निगम में भारी भ्रष्टाचार, बैठक में ही धरना पर बैठ गए पंकु

बैठक के दाैरान पार्षदाें ने कहा कि नगर निगम भ्रष्टाचार में डूबा हुआ है। बैठकाें में निर्णय के बावजूद काम नहीं हाेता है। इस पर काफी देर तक हंगामा हाेता रहा। मेयर सुरेश कुमार, डिप्टी मेयर मानमर्दन शुक्ला समेत तमाम पार्षदों ने बैठक में नगर निगम की कार्यशैली पर सवाल उठाए। महापौर ने कहा- हम यही चाहते हैं कि नगर निगम बोर्ड व सशक्त स्थाई समिति में जो भी मुद्दा पास हो, उन पर काम हो। संजय केजरीवाल ने कहा कि पिछली बैठक में पास एजेंडाें पर भी काम नहीं हुआ।

कार्यपालक अभियंता अशोक सिन्हा के खिलाफ कड़ी आपत्ति जताते हुए राजीव कुमार पंकु बैठक के दौरान ही धरने पर बैठ गए। उन्हें डिप्टी मेयर ने बैठाया। पंकु ने कहा कि खुले नाले में महिला की मौत के बाद भी वहां स्लैब नहीं डाला जा रहा है। अर्चना पंडित ने जलजमाव व गंदगी काे लेकर सभी अधिकारियों को खरी-खोटी सुनाई। पार्षद गार्गी सिंह ने कहा- मेरे घर में पानी घुसा हुआ है। 2 माह से ज्यादा समय से गली में पानी लगा हुआ है। सुषमा कुमारी ने भी बीबीगंज में जलजमाव की समस्या उठाई। रतन शर्मा ने कहा कि 4 फीट के नाले को डेढ़ फीट के नाले से जोड़ देने पर पानी कैसे निकलेगा। राकेश सिन्हा पप्पू ने कहा कि नगर निगम में इंस्पेक्टर राज चल रहा है। अब्दुल बाकी ने बैठक में पोस्टर लहराया‌।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.