Breaking News

मुख्यमंत्री ने कहा-हथवो तोड़वा दोगे क्या जी:जनता दरबार ​​​​​​​में नीतीश कुमार को फोन देते वक्त हाथ से छिटका

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जनता दरबार में मौजूद स्टाफ से कहा कि ‘हथवो तोड़वा दोगे क्या जी’। सोमवार को मुख्यमंत्री जनता की समस्याएं सुन रहे थे। लखीसराय से आए एक शख्स की शिकायत सुनकर उन्होंने खाद्य आपूर्ति विभाग के सचिव को फोन लगाने को कहा।

वहां पर मौजूद स्टाफ ने फोन लगाया और सीएम नीतीश को दिया। इसी बीच फोन का सेट हाथ से छिटक गया, इस पर मुख्यमंत्री ने स्टाफ से कहा कि ‘हथवो तोड़वा दोगे क्या जी’। मुख्यमंत्री के इस बात पर फोन अटेंडेंट सहम गया।

अधिकारी से बात करने के बाद नीतीश कुमार ने अपनी अंगुली दिखाते हुए कहा कि ‘अभी दर्द हईए है। दर्द और बढ़वा दोगे क्या।’ मुख्यमंत्री के जनता दरबार में जो फोन अटेंडेंट है, वह नया है।

इसके बाद मुख्यमंत्री ने दूसरे विभाग को फोन लगाने को कहा और उसने अलग विभाग में फोन लगा दिया। उसके बाद मुख्यमंत्री खीज गए और अपने प्रधान सचिव को बोले कि बार-बार कहते हैं नया अटेंडेंट मत लगाइए।

मुख्यमंत्री ने जनता दरबार में सोमवार को 17 विभागों से जुड़ी समस्याएं सुनी।

मुख्यमंत्री ने जनता दरबार में सोमवार को 17 विभागों से जुड़ी समस्याएं सुनी।

‘मेरा ही नाम ले लिए साथ में मंडल भी लगा लिए’

जनता दरबार में मधुबनी से एक फरियादी आया जिसका नाम नीतीश कुमार मंडल था। जब मुख्यमंत्री ने उसके एप्लीकेशन को पढ़ा तो मुस्कुराने लगे। कहा कि मेरा ही नाम ले लिए और साथ में मंडल भी लगा लिए। जब मेरा नाम मेरे पिता जी ने दिया था तब देश में किसी का नाम नीतीश कुमार नहीं था। आजकल सब देखा देखी नीतीश कुमार लिखने लगे हैं। नीतीश कुमार मंडल अपने राशन कार्ड की समस्या को लेकर आया था। इसलिए खाद्य उपभोक्ता विभाग के अधिकारी को फोन करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि देखिए.. मेरा ही नाम है और साथ में मंडल भी है। नीतीश कुमार ने मंडल पर ज्यादा जोर दिया और नीतीश कुमार मंडल की समस्या को सुलझाने का निर्देश दिया।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.